Latest news

6/recent/ticker-posts

Advertisement

एक्ट्रेस ने कहा- 21 की उम्र में बेटियों को गोद लेने का फैसला विवादित था, लोग कहते थे मुझसे कोई शादी नहीं करना चाहेगा

रवीना टंडन की मानें तो 1995 में जब उन्होंने बेटियों पूजा और छाया को गोद लिया था, तब वे खुद 21 साल की थीं। उनके हिसाब से उनका यह फैसला विवादित था। क्योंकि लोग उन्हें कहते थे कि इस बैगेज के साथ कोई भी उनसे शादी नहीं करना चाहेगा। हालांकि, खुद रवीना इसे अपनी जिंदगी का सबसे अच्छा फैसला मानती हैं।

'मैंने पूजा-छाया का हर लम्हा संजोया'

पिंकविला से बातचीत में रवीना ने कहा, "उनमें (पूजा और छाया) कोई बात थी, जिसके चलते मुझे लगा कि मेरा 21 साल की होना कोई मायने नहीं रखता। मैं कह सकती हूं कि यह मेरी जिंदगी का सबसे अच्छा फैसला रहा है। उन्हें बाहों में लेने से लेकर उनके पहली बार चलने तक मैंने उनके साथ बिताए हर लम्हे को संजोया है।"

'तब लोग मेरे फैसले से आशंकित थे'

रवीना आगे कहती हैं, "उस वक्त लोग मेरे फैसले को लेकर आशंकित थे। कहते थे कि इस बोझ के साथ कोई मुझसे शादी नहीं करना चाहेगा। लेकिन जैसा कि कहते हैं न कि जो होना तय है, वह होकर रहेगा। मैं इससे ज्यादा सौभाग्यशाली नहीं हो सकती थी।"

2004 में डिस्ट्रीब्यूटर से की थी शादी

रवीना टंडन ने 2004 में फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर अनिल थडानी से शादी की। दोनों के दो बच्चे (बेटी रशा और बेटा रणबीर वर्धन) हैं। गोद ली हुई दोनों बेटियों में छाया एयरहोस्टेस और पूजा इवेंट मैनेजर हैं। दोनों की शादी हो चुकी हैं और उनके बच्चे भी हैं।

2016 एक अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट से बातचीत में रवीना ने कहा था, "मेरी बेटियां मेरी सबसे अच्छी दोस्त हैं। मुझे याद है कि जब मैंने शादी की थी, तब वे दोनों मेरे साथ कार में थीं और मुझे मंडप तक ले गई थीं। अब मुझे उनके साथ चलने का मौका मिला। यह वाकई बहुत खास फीलिंग है।"



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Raveena Tandon recalls her controversial decision to adopt at the age of 21


from bhaskar

Post a comment

0 Comments