काजल अग्रवाल फोटो शेयर कर बताया उनकी पंजाबी-कश्मीरी शादी में क्यों निभाई गई साउथ इंडियन वेडिंग की रस्म-जीलाकर्राबेलम

काजल अग्रवाल ने 30 अक्टूबर को बिजनेसमैन गौतम किचलू से बायो बबल के बीच शादी की। शादी के दूसरे दिन काजल ने अपनी वेडिंग की इनसाइड फोटोज शेयर कीं। इन फोटोज में मैरिड कपल का रॉयल अंदाज दिखाई दिया। वहीं एक खास फोटो के साथ काजल ने बताया कि उनकी कश्मीरी-पंजाबी वेडिंग में साउथ इंडियन वेडिंग की एक रस्म जीलाकर्राबेलम भी निभाई गई।

क्या हैं जीलाकर्राबेलम और क्यों हुई ये रस्म
काजल लिखती हैं- हमारी पंजाबी-कश्मीरी शादी में हमें सिर्फ जीलाकर्राबेलम को शामिल करना था। यह रस्म मेरे उस रिश्ते के लिए जरूरी थी जो गौतम और दक्षिण भारत के साथ है। एक तेलुगु शादी में जीलाकर्राबेलम दूल्हा-दुल्हन के मिलन/विवाह का प्रतीक है। जीला कर्रा (जीरा) और बेलम (गुड़) का गाढ़ा पेस्ट बनाया जाता है जिसे तमालपाकु (पान के पत्ते) पर रखते हैं। यह पत्ता दूल्हा-दुल्हन एक-दूसरे के सिर पर रखते हैं और पुरोहित वेद मंत्रों का जाप करते हैं। इस रस्म के बाद ही दूल्हा-दुल्हन एक-दूसरे को देखते हैं। यह रस्म बताती है यह जोड़ी अच्छे-बुरे दोनों वक्त में एक साथ रहेगी।

हर गेस्ट का करवाया कोविड टेस्ट
काजल ने अपनी एक और फोटो शेयर करते हुए लिखा- इस महामारी के बीच शादी की प्लानिंग बहुत बड़ा चैलेंज था। हालांकि हमने कोविड प्रोटोकॉल फॉलो किए, जिसका मतलब था कि हमने बहुत ही छोटे रूप में शादी की। सारे गेस्ट का कोविड टेस्ट करवाया और हर एक के लिए एक बबल बनाया जो हमारी खुशी में शामिल हुए। हम उन सभी के आभारी हैं जो शादी में आ सके और उनके भी जिन्होंने वर्चुअल हिस्सा लिया। हमने उन्हें बहुत मिस किया। उम्मीद करते हैं जल्द ही मिलेंगे।

काजल की शादी से जुड़ी ये खबरें भी आप पढ़ सकते हैं

बधाई हो:गौतम की हुईं काजल: ब्राइट रेड लहंगे में खूबसूरत नजर आईं दुल्हनिया, शादी के बाद नए घर में शिफ्ट होगा कपल



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Kajal Aggarwal revealed why South Indian wedding ritual Jeelakarrabellam performed in her Punjabi Kashmiri wedding


from bhaskar

Comments

Popular posts from this blog

अभिषेक बच्चन ने कहा- पापा ने मेरे लिए कभी कोई फिल्म नहीं बनाई, उन्होंने कभी मेरी मदद नहीं की

The speech that sunk the world's biggest IPO

10 Must-Watch Movies