फैमिली वकील विकास सिंह ने कहा- सीबीआई अभी भी लगा सकती है हत्या का चार्ज, बहन श्वेता बोली- प्रार्थना करें कि सच्चाई सामने आए

सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह के वकील विकास सिंह की मानें तो अभिनेता की मौत से संबंधित एम्स की फॉरेंसिक रिपोर्ट निर्णायक नहीं है। उन्होंने अपने स्टेटमेंट में कहा, "सीबीआई अभी भी अपनी चार्जशीट में मर्डर का चार्ज लगा सकती है।" एम्स ने सीबीआई को सौंपी अपनी रिपोर्ट में सुशांत की मौत को आत्महत्या बताया है।

सुशांत की बहन बोली- अब सबकी नजरें सीबीआई पर

एम्स की रिपोर्ट पर रिएक्ट करते हुए सुशांत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने सोशल मीडिया पर लिखा है, "विश्वास की परीक्षा तब होती है, जब आप टेस्ट के समय मजबूत और अडिग रह सकते हैं। मैं अपनी एक्सटेंडेड फैमिली से ईश्वर में विश्वास रखने और प्रार्थना करने का आग्रह करती हूं। प्रार्थना करें कि सच्चाई सामने आए। सबकी नजर सीबीआई पर है।"

सुशांत के कजिन ने कहा- वह आत्महत्या नहीं कर सकता

सुशांत के चचेरे भाई और भाजपा विधायक नीरज सिंह बबलू ने भी एम्स की रिपोर्ट पर सवाल उठाया है। उन्होंने एक बातचीत में कहा कि फॉरेंसिक रिपोर्ट से हत्या की जांच नहीं हो सकती। उनके मुताबिक, सुशांत काफी बोल्ड थे और वे आत्महत्या नहीं कर सकते।

नीरज ने कहा, "पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में शरीर में जहर या रसायन नहीं पाए जाने की बात कही जा रही है। लेकिन हमने तो यह नहीं कहा कि उन्हें जहर दिया गया था। हो सकता है कि उनका गला दबाया गया हो, मारकर लटका दिया गया हो , इसकी जांच होनी चाहिए। अगर यह आत्महत्या है तो यह जांच होनी चाहिए कि उन्हें ऐसा करने के लिए किसने उकसाया?"

फॉरेंसिक विभाग ने क्या कहा था

फॉरेंसिक विभाग के 7 डॉक्टर्स के पैनल को लीड कर रहे डॉ. सुधीर गुप्ता ने शनिवार को अपने स्टेटमेंट में कहा था, "मृतक के शरीर पर फांसी के अलावा कहीं जख्म के निशान नहीं हैं। इसका सीधा मतलब है कि यह खुदकुशी है, हत्या नहीं।"

इन पॉइंट्स के आधार पर हत्या की थ्योरी खारिज हुई:-

  1. चोट के निशान नहीं : सुशांत के शरीर पर गर्दन के अलावा कहीं चोट के निशान नहीं मिले।
  2. संघर्ष या हाथापाई नहीं: सुशांत के शरीर या कपड़ों पर ऐसे कोई निशान नहीं मिले, जिनके आधार पर यह कहा जाए कि मौत से पहले उन्होंने किसी तरह का संघर्ष किया था। न ही हाथापाई के कोई निशान मिले हैं।
  3. जहरीला पदार्थ नहीं मिला : विसरा की जांच में बॉम्बे फॉरेंसिक लैब या ईएमएस की टॉक्सिकोलॉजी लैब को कोई जहरीला या नशीला पदार्थ नहीं मिला है।

रिया के वकील ने कहा- सत्यमेव जयते

एम्स की रिपोर्ट पर रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे ने बयान जारी किया। उन्होंने कहा, 'हम सीबीआई के ऑफिशियल स्टेटमेंट का इंतजार कर रहे हैं। रिया की ओर से हम लगातार यही कहते आ रहे हैं कि सत्य को किसी भी स्थिति में बदला नहीं जा सकता। हम सिर्फ सत्य पर अडिग हैं, सत्यमेव जयते।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
शनिवार को एम्स के फॉरेंसिक विभाग के हेड डॉ. सुधीर गुप्ता ने कहा था कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत का मामला क्लियर कट आत्महत्या का मामला है।


from bhaskar

Comments

Popular posts from this blog

एनसीबी के डिप्टी डायरेक्टर केपीएस मल्होत्रा बोला- मीडिया में झूठी खबर चल रही, हम खंडन जारी कर रहे हैं

पैरेंट्स के बाद अब तमन्ना भाटिया भी कोरोना पॉजिटिव; वेबसीरीज की शूटिंग के दौरान हुआ संक्रमण, हैदराबाद के हॉस्पिटल में हैं एडमिट

'बधाई हो' फेम गजराज राव बोले- मैं किसी रोल को नहीं चुनता रोल खुद ही मुझे चुन लेते हैं, सुरेखा जी खुद इतनी सक्षम हैं कि उन्हें किसी की मदद की जरूरत नहीं