डायरेक्शन में उतरेंग नवाज की फिल्म 'मोतीचूर चकनाचूर' के प्रोड्यूसर राजेश भाटिया, अगली फिल्म 'द इंश्योरेंस- कर्मा विल गेट यू' से शुरू करेंगे नई पारी

नवाजुद्दीन सिद्दीकी की फिल्म 'मोतीचूर चकनाचूर' और 'बोले चूड़ियां' के प्रोड्यूसर राजेश भाटिया अब बतौर राइटर-डायरेक्टर नई इनिंग की शुरुआत करने जा रहे हैं। उनकी फिल्म का नाम 'द इंश्योरेंस - कर्मा विल गेट यू' होगा। जिसकी शूटिंग जल्द ही शुरू होगी।

लंदन और भारत में सेट इस फिल्म की कहानी एक ऐसे व्यक्ति के इर्द-गिर्द घूमती है, जो कर्म के कानून में विश्वास करता है। वो मानता है, जैसा आप करोगे वैसे पाओगे। यह आम आदमी से संबंधित है। य फिल्म एक ऐसे व्यक्ति के मिशन के बारे में है जो घोटालों का पर्दाफाश करता है और आम लोगों को उनका इंश्योरेंस दिलाने में मदद करता है।

तीन साल पहले आय़ा था फिल्म का आइडिया

इससे पहले कई विज्ञापन फिल्मों का निर्देशन कर चुके राजेश भाटिया ने इस फिल्म को लेकर बताया, 'मैं कर्म में दृढ़ता से विश्वास करता हूं और मुझे इस फिल्म का आईडिया 3 साल पहले आया था, मैं तब से इसकी स्क्रिप्ट पर काम कर रहा था।

'यह एक कहानी है जो स्पष्ट रूप से कर्म के बारे में बोलती है। आप जो बो रहे हैं आप वही काटेंगे। मेरे आसपास के अनुभवों ने मुझे पटकथा पर निर्माण करने में बहुत मदद की है। लॉकडाउन ने मेरी टीम और मुझे इसे हार्ड बाउंड स्क्रिप्ट को लॉक करने में मदद की।'


लंदन में 48 दिन का शूटिंग शेड्यूल रखा जाएगा

भाटिया के मुताबिक 'हमने प्री-प्रोडक्शन पर काम करना शुरू कर दिया है। मैं हमेशा मानता हूं कि यदि प्रोजेक्ट के लिए प्री-प्रोडक्शन ठीक से किया जाता है, तो शूटिंग बहुत सहज हो जाती है। यह एक महत्वाकांक्षी और महंगा प्रोजेक्ट है, जिसमें VFX भी शामिल हैं। इसलिए, हमारे पास कुछ स्थापित नाम वाले एक्टर होंगे, जिनकी घोषणा जल्द ही की जाएगी।'

भाटिया की पिछली फिल्मों की तरह ही इस फिल्म के लिए भी लंदन में 48 दिनों का शूटिंग शेड्यूल रखा जाएगा। राजेश भाटिया की 'बोले चूड़ियां' नवाजुद्दीन सिद्दीकी और तमन्ना भाटिया अभिनीत फिल्म है, जो जल्द ही एक ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज होगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Rajesh Bhatia will start new journey as a director with upcoming film 'The Insurance- Karma Will Get You'


from bhaskar

Comments

Popular posts from this blog

Stars Unite for Table Reading of Fast Times At Ridgemont High

Chicken vs. cow

Money Stuff: It’s Not All Bad for Banks