अंकिता लोखंडे ने शेयर किया पैराग्लाइडिंग करते हुए सुशांत सिंह राजपूत का पुराना वीडियो, लिखा-उड़ते रहो

अंकिता लोखंडे ने एक पुराना वीडियो री-पोस्ट किया है जिसमें सुशांत सिंह राजपूत पैराग्लाइडिंग का लुत्फ उठाते नजर आ रहे हैं। यह वीडियो दोनों की कॉमन फ्रेंड नताशा शर्मा रेडिज ने इंस्टाग्राम पर शेयर किया।

अंकिता ने इस वीडियो को शेयर करते हुए नताशा का आभार जताया और लिखा, सुशांत तुम हम सबके द्वारा और अपने फैन्स के द्वारा हमेशा मिस किए जाओगे। #keepflying यानी उड़ते रहो। अंकिता ने बताया कि यह वीडियो तब का है जब वह सुशांत के साथ वेकेशन पर गई थीं।

सुशांत पर लिखी कविता की तारीफ की

अंकिता ने इसके साथ नताशा की एक कविता की भी तारीफ की जो उन्होंने खासतौर पर सुशांत के लिए लिखकर पोस्ट की थी।

नताशा ने लिखा, काश तूने ये उड़ान भरी ही ना होती यार मेरे ,या फिर काश तू जुड़ा रहता उन सब से जो तुझे तेरी जड़ों से जोड़े रखते थे। यूं तो शायद इतना तुझे याद ना करते हम यार , क्योंकि तू मसरूफ था, खुश दिखता था खुद की चुनी हुई नई दिलचस्प गलियों मे, हम भी तेरे यार खुश थे तुझे ऊंचा उड़ता देख कर।

इस तरह तुझे खो देने का इल्म होता अगर, तो तुझे ये उड़ान भरने ही ना देते हम यार। क्योंकि जब तू यहां ज़मीन पर था हम यारों के साथ, हंसते थे हम, गाते भी थे, किस्से एक-दूसरे को सुनाते भी थे। क्या हुआ जो ये हंसता हुआ सपनो को यूं जीता हुआ यार मेरा फिर कभी ना हंसेगा, ना रोएगा फिर कभी ना जिएगा बस सोएगा। उसकी इस नींद को सुकून दे या रब।

रिया के दावों को किया था खारिज

इससे पहले भी अंकिता ने एक वीडियो शेयर किया था जिसमें उन्होंने रिया चक्रवर्ती के उन दावों को झुठला दिया था जिसमें उन्होंने कहा था कि सुशांत को 'क्लस्ट्रोफोबिया' था और उन्हें फ्लाइट में बैठने से डर लगता था। जिसके बाद अंकिता ने 1 मिनट 56 सेकंड का जो वीडियो शेयर किया उसमें सुशांत प्लेन के कॉकपिट में पायलट सीट पर बैठकर प्लेन को उड़ाते दिखाई दे रहे हैं। इसके साथ अंकिता ने लिखा, 'क्या ये है #क्लस्ट्रोफोबिया? आप हमेशा उड़ना चाहते थे और आपने यही किया। और हम सभी को आप पर गर्व है।'

##

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Ankita Lokhande shares an old video of Sushant Singh Rajput enjoying paragliding, says ‘keep flying’


from bhaskar

Comments

Popular posts from this blog

How to Dance Across Medium with Fantastic Writers

Chicken vs. cow

Money Stuff: It’s Not All Bad for Banks