बांद्रा वेस्ट विधानसभा और मुंबई नार्थ सेंट्रल लोकसभा सीट पर 2009 से लगातार खड़ा हो रहा भाजपा का उम्मीदवार

अभिनेत्री कंगना रनोट ने टाइम्स नाउ को दिए एक इंटरव्यू में दावा किया है कि बांद्रा में रहने के दौरान भाजपा और शिवसेना के गठबंधन की वजह से उन्हें मजबूरी में शिवसेना के उम्मीदवार को वोट देना पड़ा था। दैनिक भास्कर ने कंगना के इस दावे की पड़ताल की तो पता चला कि उनका यह दावा तथ्यात्मक रूप से गलत है।

कंगना रनोट का फ्लैट मुंबई के खार वेस्ट में 16वीं रोड पर स्थित डीबी आर्किड ब्रीज नाम की इमारत में हैं। इस इमारत का निर्माण 2008 में शुरू हुआ था और फ्लैट के ओनर्स को 2012 में बिल्डर की ओर से पजेशन दिया गया। कंगना की वोटर आईडी पर इसी अपार्टमेंट का एड्रेस दर्ज है। यह साबित करता है कि कंगना यहां 2012 के बाद ही रहने आईं हैं। खार वेस्ट का यह इलाका बांद्रा पश्चिम विधानसभा में और मुंबई उत्तर मध्य लोकसभा क्षेत्र में आता है। इस हिसाब से कंगना का पोलिंग स्टेशन वीपीएम हाईस्कूल है।

इंटरव्यू में कंगना ने कहा-मैंने मजबूरी में शिवसेना को वोट दिया
टाइम्स नाउ को दिए इंटरव्यू में कंगना ने कहा है,"जब मैं बांद्रा में वोट डालने गई थी और मैं वोटिंग मशीन के सामने खड़ी थी। मैं बीजेपी सपोर्टर हूं और मैं वोटिंग मशीन में खोज रही थी बीजेपी का बटन कहां है। तब मुझे कहा गया कि मुझे शिवसेना का बटन दबाना होगा। मैं राजनीति नहीं समझती हूं, मुझे ऐसा लगा कि जब मैं बीजेपी को पसंद करती हूं तो शिवसेना का बटन क्यों दबाऊं। मुझे नहीं पता था कि यह ग्रुप कैसे बना, लेकिन मुझे शिवसेना के बटन को दबाने का दबाव बनाया गया। वहां भाजपा का कोई नहीं था। गठबंधन के रूप में सिर्फ शिवसेना का ऑप्शन था। मैंने उनके लिए वोट किया और देखिए उनकी और से कैसा ट्रीटमेंट मुझे मिला है।"

हालांकि, इस इंटरव्यू में इन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया है कि वे किस चुनाव की बात कर रही है, लेकिन 2012 के बाद डीबी आर्किड ब्रीज इमारत में रहने आईं कंगना इसके बाद हुए चुनावों में ही वोट डालने के लिए पात्र हुई हैं।

विधानसभा चुनाव (बांद्रा वेस्ट सीट)

साल भाजपा उम्मीदवार शिवसेना उम्मीदवार
2009 आशीष शेलार कोई नहीं
2014 आशीष शेलार विलास चावरी
2019 आशीष शेलार कोई नहीं

मुंबई उत्तर-मध्य लोकसभा सीट

साल भाजपा उम्मीदवार शिवसेना उम्मीदवार
2009 महेश राम जेठमलानी कोई नहीं
2014 पूनम महाजन कोई नहीं
2019 पूनम महाजन कोई नहीं

शिवसेना ने कंगना से बनाई दूरी

महाराष्ट्र चुनाव आयोग से वेरिफाई किए यह आंकड़े यह साबित करते हैं कि कंगना के बांद्रा में रहने से पहले और उसके बाद कभी ऐसा नहीं हुआ कि भाजपा का उम्मीदवार यहां चुनाव नहीं लड़ा है। इस हिसाब से इस इंटरव्यू में उनके द्वारा कही बातें तथ्यात्मक रूप से गलत साबित होती हैं। इस मुद्दे पर हमने शिवसेना के कई आधिकारिक प्रवक्ताओं से बात करने का प्रयास किया, लेकिन किसी ने भी इस मुद्दे पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

2019 लोकसभा चुनाव में वोट डालने के बाद कांग्रेस पर कंगना ने साधा था निशाना
अप्रैल 2019 में हुए लोकसभा चुनावों के दौरान अभिनेत्री कंगना रनोट ने बांद्रा के एक स्कूल में बने पोलिंग स्टेशन में जाकर वोट डाला था। वोट डालने के बाद एक्ट्रेस ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था,'चुनाव का दिन बहुत जरूरी होता है। पांच साल में एक बार आता है तो मेरी रिक्वेस्ट है कि इसका यूज जरूर करें। मैं समझती हूं देश इस समय सही आजादी का मजा ले रहा है। क्योंकि इससे पहले हम सब मुगल, ब्रिटिश और इटालियन सरकार के गुलाम थे। इसके पहले की पार्टियों ने लंदन में छुट्टियां मनाईं और मजे किए है।'

कंगना ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा था कि कांग्रेस की सरकार के वक्त हालात बहुत बुरे थे। रेप, गरीबी, प्रदूषण की जो हालत आज है, उससे कई गुना ज्यादा खराब हालत कांग्रेस के शासन में थी। ये स्वराज और स्वधर्म का समय है। हमें भारी मात्रा में वोट करना चाहिए। कांग्रेस पर कंगना के इस हमले का कोई फर्क पड़ता है या नहीं ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह तस्वीर अप्रैल 2019 की है जब अभिनेत्री कंगना रनोट बांद्रा के एक स्कूल में वोट डालकर बाहर निकली थीं।


from bhaskar

Comments

Popular posts from this blog

Mulan DID NOT make $250 million and the future of film releases

एनसीबी के डिप्टी डायरेक्टर केपीएस मल्होत्रा बोला- मीडिया में झूठी खबर चल रही, हम खंडन जारी कर रहे हैं

Obtaining and analysing Fitbit sleep scores