एक्ट्रेस का दावा घर के बाहर सुनाई दी तीन गोलियों की आवाज, बोलीं- सुशांत मामले में बयानों के चलते किसी ने डराने की कोशिश की

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में लगातार न्याय की मांग कर रहीं कंगना रनोट ने अपने घर के बाहर तीन गोलियां चलने का दावा किया है। घटना शुक्रवार रात की बताई जा रही है। रिपोर्ट्स की मानें तो कंगना की शिकायत के बाद वहां पुलिस की एक टीम की तैनाती कर दी गई, जो हर आने-जाने वाले की जांच कर रही है। हालांकि, कुल्लू पुलिस को शुरूआती जांच में किसी तरह की शरारत के सबूत नहीं मिले हैं। लेकिन कंगना का मानना है कि सुशांत मामले में उनके हालिया पॉलिटिकल बयानों की वजह से उन्हें डराने की कोशिश की गई है। कंगना ने खुद एक इंटरव्यू में आपबीती साझा की।

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कंगना ने कहा, "मैं अपने बेडरूम में थी। लगभग 11:30 बजे का वक्त रहा होगा। हमारा तीन फ्लोर का घर है। यहां बाउंड्री वॉल है, जिसके पीछे सेब का बगीचा और वाटर बॉडी है। सबसे पहले 11:30 बजे के आसपास मुझे पटाखे जैसी आवाज सुनाई दी। मैंने सोचा हो सकता है पटाखा ही हो। उसके बाद दूसरा शॉट हुआ। मैं सतर्क हो गई, क्योंकि यह गोली चलने जैसी आवाज थी।

फिलहाल यहां मनाली में कोई टूरिज्म सीजन नहीं है। अभी यहां कोई पटाखे नहीं चलाएगा। इसलिए मैंने सिक्युरिटी इंचार्ज को फोन किया और पूछा क्या हुआ? उसने कहा हो सकता है कि वहां कुछ बच्चे या कुछ और हो। हमें जाकर देखना होगा कि पटाखा चला था या किसी और चीज की आवाज थी। हो सकता है कि इस आदमी ने गोली की आवाज नहीं सुनी हो। लेकिन मैंने सुनी थी। वे (सिक्युरिटी गार्ड्स) पीछे गए। लेकिन वहां कोई नहीं था।

हम घर में पांच लोग हैं और सभी ने वह आवाज सुनी थी। सभी को लगा कि वह गोली की आवाज थी। यह पटाखे जैसी आवाज नहीं थी। इसलिए हमने पुलिस को बुलाया।

पुलिस ने आकर क्या किया?

कंगना की मानें तो पुलिस ने आकर उन्हें कहा कि शायद किसी ने चमगादड़ों को भगाने की कोशिश की हो, क्योंकि चमगादड़ें सेब के बगीजों को उजाड़ देती हैं। सुबह बगीचे के मालिक को बुलाया गया, लेकिन उसने भी किसी तरह की आवाज सुनाई देने से इनकार किया। पुलिस जांच कर रही है। उनके और आसपास के लोगों के बयान दर्ज कर लिए गए हैं। रात में तीन कांस्टेबल उनके घर के बाहर तैनात किए गए थे।

कंगना ने कैसे अंदाजा लगाया कि वह गोली की आवाज थी?

बकौल कंगना, "मेरे स्टाफ ने कहा कि उन्होंने कई सालों से चमगादड़ भगाने के लिए किसी को गोली चलाते नहीं देखा। खासकर आधी रात में तो नहीं। इसलिए हम इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि देखते हैं कि क्या वही आवाज फिर से रिपीट होती है। मैंने आवाज सुनी और मुझे पूरा यकीन हो गया कि यह गोली की आवाज ही थी। 8 सेकंड के गैप से दो शॉट हुए। यह बिल्कुल मेरे कमरे के बगल में हुए। ऐसा लगा जैसे कोई बाउंड्री वॉल के पीछे था, जहां जंगल और वाटर बॉडी है।"

क्या कंगना को डराने के लिए चलवाई गई गोली?

कंगना के मुताबिक, संभवतः उनके हालिया पॉलिटिकल बयानों के कारण किसी ने उन्हें डराने की कोशिश की थी। ताकि वे यह सब करना बंद कर दें। वे कहती हैं, "मुझे लगता है कि मेरे घर के आसपास के किसी आदमी को हायर किया होगा। उनके लिए यहां 7- 8 हजार रुपए में लोगों को हायर करना कोई बड़ी बात नहीं है।

जिस दिन मैंने सीएम (उद्धव ठाकरे) के बेटे (आदित्य ठाकरे) के खिलाफ बयान दिया, उसी दिन ऐसा होना महज इत्तफाक नहीं हो सकता। लोग मुझसे कह रहे हैं कि मेरा अब मुंबई में जीना दुश्वार हो जाएगा। खैर मैं मुंबई में नहीं हूं, लेकिन वे यहां भी यह सब कर रहे हैं। देश में क्या गुंडागर्दी चल रही है? सुशांत इससे डर गए होंगे। लेकिन मैं लगातार सवाल उठाती रहूंगी।"

कंगना ने क्या कहा था आदित्य ठाकरे के बारे में

एक एंटरटेनमेंट न्यूज वेबसाइट ने दावा किया था कि सुशांत की मौत से एक रात पहले उनके यहां पार्टी हुई थी और एक बड़ी हस्ती इसमें शामिल हुई थी। इसी पर रिएक्ट करते हुए कंगना रनोट की टीम ने ट्विटर पर लिखा था, "सब जानते हैं, लेकिन कोई नाम नहीं लेगा। करन जौहर का बेस्ट फ्रेंड और दुनिया के सबसे अच्छे मुख्यमंत्री का बेटा, जिसे प्यार से बेबी पेंगुइन कहते हैं। कंगना कह रही हैं कि अगर मैं अपने घर में लटकी हुई मिलूं तो कृपया ध्यान दें, मैंने सुसाइड नहीं किया।"



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
कंगना रनोट सुशांत सिंह राजपूत मामले में लगातार बॉलीवुड की बड़ी हस्तियों और महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साध रही हैं।


from bhaskar

Comments

Popular posts from this blog

अब शूटिंग सेट पर जा सकेंगे 65 साल से अधिक उम्र के टीवी और फिल्म एक्टर्स, बॉम्बे हाई कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार द्वारा लगाए प्रतिबंध को हटाया

What type of wireless headphones are best for movies watching?

Chicken vs. cow