रिया ने इस्तेमाल कर सुशांत को फेंक दिया था, अपने कारनामों को छिपाने के लिए स्टाफ को बदला; प्रियंका पर गलत ढंग से छूने के आरोप पर यह सफाई दी

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में बयानबाजी का दौरान जारी है। मंगलवार को रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे ने रिया की ओर से बयान जारी कर कहा कि बिहार में चुनाव से पहले कई नेताओं ने मामले का लाभ उठाने की कोशिश की है। इसके अलावा उन्होंने उनकी बहन पर भी कई गंभीर आरोप लगाये थे।

इसपर पलटवार करते हुए सुशांत के पिता केके सिंह भी सामने आये और रिया चक्रवर्ती पर कई गंभीर आरोप लागाये। उन्होंने कहा कि सुशांत सिंह को पंखे से झूलते किसी ने देखा। उन्होंने सुशांत के दोस्त सिद्धार्थ पिठीनी पर भी सवाल उठाए। सुशांत के पिता के वकील ने कहा कि जो पिठानी एफआईआर दर्ज होने से पहले परिवार के साथ था वो भी बाद में पलट गया। उन्होंने रिया पर भी सुशांत को यूज करने का आरोप लगाया है।

बहन प्रियंका पर लगे आरोप पर यह कहा
सोमवार सुबह रिया के वकील ने एक बयान जारी कर कहा कि अप्रैल 2019 की एक रात रिया और प्रियंका एक पार्टी के लिए बाहर गए थे। प्रिंयका जिन्होंने बहुत ज्यादा शराब पी ली थी वो मर्दों और औरतों के साथ अजीब बर्ताव कर रही थीं। इसपर रिया ने इस बात पर जोर दिया कि उन्हें सुशांत के घर वापस चलना चाहिए। वापसी की बात कहने पर भी वह शराब पीती रहीं जबकि रिया वापस आ गईं क्योंकि उन्हें अगले दिन शूट पर जाना था। रिया सुशांत के कमरे में सोई हुई थीं जब वह अचानक जाग गईं क्योंकि उन्होंने पाया कि प्रियंका उनके बिस्तर में सो रही हैं और उन्हें गलत तरीके से छू रही हैं। इस आरोप पर विकास सिंह ने कहा कि रिया झूठी बातें प्रचारित कर रही है। यह जिस दिन की बात कर रही हैं वह पार्टी एक दिन पहले हुई थी। हमारे पास इसका सही प्रूफ है और समय पड़ने पर हम सामने रखेंगे।

विकास सिंह का कहना है कि रिया ने पहले दिन से ही बहन प्रियंका को सुशांत से अलग करने का प्रयास किया। ऐसे आरोप लगाकर वे परिवार की छवि खराब करना चाह रही हैं। उन्होंने सुशांत के अंतिम संस्कार के बारे में कहा कि इसमें भी रिया को नहीं बुलाया गया और वो खुद भी नहीं आई ऐसा आखिर क्यों? साथ ही उन्होंने कहा कि जब रिया, सुशांत को छोड़ कर गई तो दावा वगैरह की सारी जानकारी परिजनों को उन्होंने क्यों नहीं दी?

अपने कारनामों को छिपाने के लिए रिया ने स्टाफ बदला

विकास सिंह ने यह भी आरोप लगाया कि रिया चक्रवर्ती ने अपने कारनामों को छुपाने के लिए करके सभी स्टाफ को बदल दिया था। उन्होंने कहा कि सुशांत एक कमरे में सोते रहते थे और दूसरे कमरे में रिया अन्य लोगों के साथ पार्टी करती थी।

रिया ने सुशांत का इस्तेमाल किया और जरूरत खत्म होने पर उन्हें फेंक दिया
सुशांत के पिता के वकील विकास सिंह ने मंगलवार को कहा कि कोर्ट के फैसले से पहले रिया चक्रवर्ती ने जो बयान दिया है, यह सहानुभूति प्राप्त करने की कोशिश है। इससे उनको सहानुभूति नहीं मिलेगी, इससे उनका रवैया स्पष्ट हो रहा है कि उन्होंने कैसे सुशांत का इस्तेमाल किया और जब जरूरत खत्म हो गई तो फेंक दिया। रिया को लेकर विकास सिंह ने आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट के जज काफी विवेकवान होते हैं लिहाजा उन पर ऐसे हथकंडों का कोर्ट पर कोई असर नहीं होगा। विकास ने कहा कि रिया की ओर से सुप्रीम कोर्ट के फैसले के आने से पहले इस तरह की बयानबाजी का ही जवाब देने को हमे प्रेस मीडिया से मुखातिब होना पड़ा है।

जरुरत पड़ने पर रिया को गिरफ्तार कर सकती है ईडी
रिया की ओर से बोला जा रहा है कि ईडी ने उन्हें अरेस्ट नहीं किया है, इसका मतलब है कि उन्हें कुछ नहीं मिला है यह बिल्कुल गलत है। अगर ईडी को लगेगा कि उन्हें अरेस्ट करना है तो वह उन्हें गिरफ्तार भी कर सकती है। अभी जो भी जाँच चल रही है उसपर न तो रिया कुछ बोल सकती है और न ही हम कुछ बोल सकते हैं और न ही किसी का बोलना सही है।

मुंबई पुलिस पर लापरवाही का लगाया आरोप
विकास सिंह ने कहा कि सुशांत मामले में मुंबई पुलिस ने बड़ी लापरवाही बरती है। आत्महत्या मामले में सबसे पहले उस जगह को पुलिस सिक्योर करती है जहां घटना हुई। मुंबई पुलिस ने ऐसा नहीं किया। घटना के बाद घर में लोगों का आना-जाना लगा रहा। पुलिस ने यह जांच नहीं की कि सुशांत को जिस पंखे से लटका बताया गया वह उसका वजन संभाल सकता था या नहीं।

आत्महत्या नहीं यह एक प्लान तरीके से की गई हत्या है
उन्होंने आगे कहा कि यह आत्महत्या है ही नहीं। सुशांत की हत्या हुई है। अगर किसी को फंदे से लटककर मरना होता तो वह स्टूल पर चढ़कर ऐसा करता। बेड पर चढ़कर ऐसा नहीं करता। क्या सुशांत बेड से कूदकर फंदे से लटक गया? कोई भी व्यक्ति चाहे जितना भी आत्महत्या के लिए व्याकुल क्यों न हो वह बेड पर चढ़कर फंदे से नहीं लटक सकता। छटपटाहट होने पर वह रूक जाएगा।

मीडिया की तरह पुलिस को काम करना चाहिए था
विकास सिंह ने कहा कि किसी ने सुशांत को फंदे से लटका नहीं देखा। मीडिया ने जिस तरह तथ्यों को सामने लाया वैसा काम मुंबई पुलिस को करना चाहिए था, लेकिन मुंबई पुलिस ने गंभीरता नहीं दिखाई। रिया गलत बयान देकर लोगों का सहानुभूति लेना चाहती है।

आदित्य ठाकरे के नाम हमने कभी नहीं लिया

विकास सिंह ने यह भी कहा कि हमने अपनी एफआईआर में आदित्य ठाकरे के नाम की चर्चा भी नहीं की है। वह जानती हैं या नहीं यह मुझे नहीं पता, लेकिन वह बार-बार उनका नाम क्यों ले रही हैं। 'चोर की दाढ़ी में तिनक होता है' यह समझ नहीं आ रहा कि वे आदित्य ठाकरे का नाम क्यों ले रही हैं?



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Sushant Singh Rajput Father Lawyer | Vikas Singh On Rhea Chakraborty Over Bollywood Actor Sushant Singh Rajput Death


from bhaskar

Comments

Popular posts from this blog

Mulan DID NOT make $250 million and the future of film releases

Stars Unite for Table Reading of Fast Times At Ridgemont High

Chicken vs. cow