फ्रंटलाइन वर्कर्स की मदद के लिए आगे आईं नोरा फतेही, कई सरकारी अस्पतालों में डोनेट कर रही हैं पीपीई किट्स

लॉकडाउन में मजेदार पोस्ट से फैंस को जमकर एंटरटेन कर रहीं नोरा फतेही फ्रंटलाइन वर्कर्स की मदद के लिए आगे आई हैं। एक्ट्रेस ने कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर्स और कई वर्कर्स के लिए सरकारी अस्पतालों में पीपीई किट्स डोनेट की है। इसके अलावा वो पीपीई किट्स के लिए फंड रेज करने के काम में भी जुटी हुई हैं।

इस बारे में जानकारी देते हुए नोरा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से एक वीडियो शेयर किया है। इसमें उन्होंने कहा, "नमस्ते आशा करती हूं आप सभी घर पर होंगे और सुरक्षित होंगे । हमारी खुशकिस्मती है कि हम सब घर पर हैं और सुरक्षित है, लेकिन कुछ लोग है जो हमारे लिए रोज घर से बाहर अपनी ड्यूटी कर रहे है अपनी जान की बाजी लगाकर। इस महामारी में भी हमारे लिए पुलिस, मेडिकल स्टाफ, स्वास्थकर्मी, नर्स, डॉक्टर्स और सफाई कर्मचारी रोज अपने घर से बाहर निकलते है, उनके लिए भी सुरक्षा होनी चाहिए।

आगे उन्होंने कहा, 'हर रोज डॉक्टर्स, नर्स कोरोना रोगीयों का इलाज करते हुए रोगियों के संपर्क में आते है जिससे उन्हें भी ज्यादा खतरा होता है पर वे सेवा में लगे हुए है । कुछ लोग कहते होंगे कि वह उनकी ड्यूटी है , यह सही है पर उनकी पूरी सुरक्षा के साथ। फिलहाल पीपीई किट्स की बहुत ज्यादा जरूरत है। हमारा भी कर्तव्य है कि इनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी हम भी लें। इसलिए मैं भारत के सरकारी अस्पतालों में पीपीई किट्स डोनेट कर रही हूं। यह कठिन समय है लेकिन यह भी गुजर जाएगा। आप भी अकेले या फिर ग्रुप में भी पीपीई किट डोनट कर सकते है । में अपना कर्तव्य निभा रही हुं आप भी आगे आएं और जो हो सकता है वैसे मदद करे। जय हिंद'।

नोरा फतेही से पहले भी बॉलीवुड के कई सितारे भी अस्पतालों में किट्स डोनेट कर चुके हैं। हाल ही में अभिनेत्री विद्या बालन ने फंड रेज करते हुए कई पीपीई किटस स्वास्थ्य कर्मियों को डोनेट की थीं। फिल्म स्ट्रीट डांसर 3डी के बाद नोरा जल्द ही भुज द प्राइड ऑफ नेशन में नजर आने वाली हैं। इस मल्टीस्टारर फिल्म की रिलीज डेट 2 अक्टूबर रखी गई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
nora fatehi came forward to help Frontline workers, donates PPE kits in many government hospitals


from bhaskar

Comments

Popular posts from this blog

Chicken vs. cow

Money Stuff: It’s Not All Bad for Banks

How to Dance Across Medium with Fantastic Writers