चीन के हजारों सिनेमाघर हमेशा के लिए बंद होने की कगार पर, बड़ी संख्या में नौकरियां भी जाएंगी

कोरोनावायरस के कारण लॉकडाउन का सामना कर रहे चीन के हजारों सिनेमाघरों पर बंद होने का खतरा मंडरा रहा रहा है। चाइना फिल्म एसोसिएशन (सीएफए), चाइना फिल्म डिस्ट्रीब्यूशन एंड स्क्रीनिंग एसोसिएशन (सीएफडीएसए) और लीडिंग सिनेमा चैन वांडा द्वारा किए गए हालिया सर्वे में यह जानकारी सामने आई। साथ ही इस बात का पता चला है कि इंडस्ट्री के अंदर छटनी भी शुरू हो गई है।

187 थिएटर्स में किया गया सर्वे
अप्रैल के अंत में 187 थिएटर्स के सर्वे के आधार पर तैयार की गई इस रिपोर्ट्स से जो आंकड़े सामने आए हैं, वे निराशा भरे हैं। महामारी के लगातार प्रभाव के चलते 40 फीसदी से ज्यादा सिनेमाघरों को मुश्किल का सामना करना पड़ा है। यदि सर्वे के निष्कर्षों में चीनी सिनेमाघरों और बॉक्स ऑफिस का पूर्वानुमान देखा जाए तो पाते हैं कि हजारों स्क्रीन हमेशा के लिए बंद हो जाएंगी और बड़ी संख्या में नौकरियां भी जा सकती हैं।

42 फीसदी थिएटर्स पर बंद होने का खतरा
सर्वे के मुताबिक, मार्च के अंत तक 20 फीसदी थिएटर्स में स्टाफ की छटनी हो चुकी थी। इनमें से ज्यादातर छोटे या मंझोले साइज के थिएटर्स हैं, जिनकी सिटिंग कैपेसिटी 1000 से कम है। वहीं, 42 फीसदी थिएटर्स पर हमेशा के लिए बंद होने का खतरा मंडरा रहा है। सिर्फ 10 फीसदी थिएटर्स को लेकर ऐसा अनुमान है कि वे बदलाव के साथ फिर से शुरू हो सकते हैं।

एक बार खोलकर बंद कर दिए गए कुछ सिनेमाघर
चीनी सरकार अपने एक स्टेटमेंट में यह कह चुकी हैं कि जहां कोरोनावायरस का खतरा कम है, वहां कैपिसिटी घटाकर और डेली डिसइनफैक्टिंग मीजर्स के साथ सिनेमाघर फिर से खोले जा सकते हैं। लेकिन अभी तक इस पर अमल नहीं किया गया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन में ऐसी कुछ जगहों पर सिनेमाघर खोलने की अनुमति दे दी गई थी, जहां संक्रमण तेजी से कम हुआ था। हालांकि, बाद में इस डर से बंद कर दिए गए कि लॉकडाउन में दी गई इस छूट की वजह से संक्रमण फिर से बढ़ सकता है।

सबसे ज्यादा सिनेमाघर चीन में
पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा सिनेमाघर चीन में ही हैं। 2019 में यहां 9708 नई स्क्रीन जोड़ी गई थीं, जिसके बाद स्क्रीन्स की कुल संख्या 69787 हो गई थी। लेकिन कोरोनावायरस फैलने के बाद 23 जनवरी को जैसे ही वुहान को लॉकडाउन किया गया, तभी से इन सभी सिनेमाघरों में भी ताला पड़ा हुआ है।

दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बॉक्स ऑफिस
यूएस के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बॉक्स ऑफिस भी चीन में ही है। सरकार ने अप्रैल में अपने आधिकारिक स्टेटमेंट में कहा था कि महामारी के वजह से बॉक्स ऑफिस को 30 बिलियन यूआन यानी लगभग 32 हजार करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

और यह है एक्सपर्ट्स का मानना
अमेरिकी फिल्म एवं एंटरटेनमेंट वेबसाइट वैराइटी डॉट कॉम के मुताबिक, बंद का मतलब पिछले साल के मुकाबले बॉक्स ऑफिस का 66 फीसदी गिरना है। जहां पिछले साल चाइनीज बॉक्स ऑफिस पर 64.3 बिलियन यूआन (लगभग 68 हजार करोड़ रुपए) की कमाई हुई थी तो वहीं इस साल यह महज 28.1 बिलयन यूआन (लगभग 23 हजार करोड़ रुपए) रह सकती है।

हालांकि, चार्टर्ड फाइनेंशियल एनालिसिस्ट के गणित के मुताबिक, सिनेमाघर खुलने में अक्टूबर तक की देरी होगी। इसके चलते रेवेन्यु 91 फीसदी तक कम रहेगा। यानी कुल कमाई 5.79 बिलियन यूआन या लगभग 6114 करोड़ रुपए ही हो पाएगी।

दोबारा ट्रैक पर आने में लगेगा 6 महीने से ज्यादा का वक्त
सर्वे के मुताबिक, आधे से ज्यादा सिनेमाघरों का मानना है कि री-ओपनिंग के बाद महामारी से पहले वाली स्थिति में पहुंचने में 3-6 महीने का वक्त लग जाएगा। वहीं, 37 फीसदी सिनेमाघरों का अनुमान है कि इसमें 6 महीने से भी ज्यादा का वक्त लग सकता है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा सिनेमाघर चीन में ही हैं।


from bhaskar

Comments

Popular posts from this blog

क्या आप अचानक मोटी हो गई हैं? जानें मोटापे का इमोशनल कनेक्शन (Are You Emotionally Overweight? Here Are 10 Easy Ways To Lose Weight Naturally)

Halloween Kills Teaser and new release date

An Awesome List of the Most Iconic Television Melodramas of All-Time